Latest Press Release:

सरकार के इशारे पर जिला प्रशासन बना कठपुतली: समीर उरांव

कांग्रेस प्रभारी को नही किया कोरेन्टीन,मुख्यसचिव का निर्देश तार तार

भाजपा के प्रदेश महामंत्री एवम सांसद समीर उरांव ने राज्य सरकार पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि राज्य सरकार के इशारे पर जिला प्रशासन कठपुतली बना हुआ है।लॉक्ड डाउन के प्रारंभ से लेकर अबतक लगातार प्रशासन का दोहरा चरित्र उजागर हो रहा।

श्री उरांव ने कहा कि एक तरफ नेता विधायकदल एवम पूर्व मुख्यमंत्री श्री बाबूलाल मरांडी को और राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथ लेकर नई दिल्ली से लौटे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवम सांसद श्री दीपक प्रकाश को एयरपोर्ट पर ही 14 दिन के होम कोरेन्टीन का मुहर लगा दिया जाता है वही कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी श्री उमंग सिंगार नई दिल्ली से आकर रांची में कांग्रेस पार्टी के विभिन्न कार्यक्रमों में लगातार शामिल हो रहे।
उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव ने सरकारी आदेश निकालकर राज्य के बाहर से लौटने वालो को 14 दिन के होम कोरेन्टीन का स्पष्ट निर्देश दिया है परंतु ज़िला प्रशासन इसकी धज़्ज़िया उड़ा रहा है। सत्ताधारी दल केलिये अलग नियम लागू किये जा रहे जबकि विपक्ष केलिये अलग। सत्ताधारी दल के लोग सरकार के इशारे पर नंगा नाच कर रहे और प्रशासन मूक दर्शक बना हुआ है।

श्री उरांव ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को कानून के अनुपालन का चरित्र कभी नही रहा। ये कानून को अपने हिसाब से चलाना चाहते हैं। सरकार केएक मंत्री ने बसों में भरकर जिला और समुदाय विशेष के लोगों को भेजा तो लॉक्ड डाउन के नियम धरे के धरे रह गए। सत्ताधारी विधायक नियमो को तोड़ते रहे ,राजभवन के सामने धरना प्रदर्शन होता रहा और प्रशासन मूकदर्शक बना रहा।

कहा कि हेमंत सरकार में यह बात स्पष्ट हो चुकी है कि आम जनता और विपक्षी पार्टियों केलिये कुछ और नियम हैं जबकि सत्ताधारियों केलिये कुछ और। प्रशासन सत्तापक्ष के लोगों से कानून के अनुपालन कराने में विफल साबित हुआ है।

श्री उरांव ने मुख्यसचिव से राज्य में कानून का शासन स्थापित करने की मांग करते हुए कहा कि जिला प्रशासन के वैसे पदाधिकारियों को चिन्हित कर कठोर कार्रवाई हो जो कोरेन्टीन के नियम के अनुपालन कराने में बिफल रहे है।साथ ही नियमो को नही माननेवाले कांग्रेस प्रभारी पर अबिलब मुकदमा दर्ज हो।