जनविरोधी अध्यादेश को निरस्त करे राज्य सरकार… भाजपा

महामहिम राज्यपाल को पत्र लिखकर कहा,अंग्रेज शासन की याद दिलाता है यह अध्यादेश

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद श्री दीपक प्रकाश एवम भाजपा विधायकदल के नेता पूर्व मुख्यमंत्री श्री बाबूलाल मरांडी ने संयुक्त रूप से पत्र लिखकर राज्यपाल महोदया से मास्क नही लगाने पर एक लाख रुपये जुर्माना या दो साल की सजा से संबंधित अध्यादेश को निरस्त करने हेतु राज्य सरकार को निदेशित करने का अनुरोध किया।

पत्र महामहिम राज्यपाल महोदया को ईमेल द्वारा प्रेषित किया गया है।

नेता द्वय ने कहा कि यह जनविरोधी,गरीब ,मजदूर विरोधी अध्यादेश है। राज्य की जनता स्वयं कोरोना संक्रमण से परेशान है इस बीच यह अध्यादेश जनता की परेशानियों को और अधिक बढ़ानेवाला है।

बेहतर होता कि सवा तीन करोड़ जनता को मास्क केलिये दबाव न बनाकर स्वयं से बनाये हुए फेस कवर अथवा गमछा,तौलिया,रुमाल से चेहरे को ढककर बाहर निकलने केलिये प्रेरित किया जाता।

कहा कि राज्य में लाखों की संख्या में प्रवासी मज़दूर कामगर बाहर से लौटे है जिनके सामने भरण पोषण केलिये रोजगार की विकराल समस्या है।सरकार रोजगार उपलब्ध नही करा रही है जिसके कारण ये रोजी रोटी केलिये चिंतित हैं।
कहा कि मजदूरों की इन मजबूरियों का फायदा उठाने केलिये प्रदेश में नक्सली संगठन सक्रिय है। ऐसे संगठन इन्हें पैसे का प्रलोभन देकर संगठन से जोड़ने का प्रयास कर रहे हैं।

कहा कि जिसप्रकार से कोरोना महामारी विकराल रूप धारण करता जा रहा है ऐसे में सरकार को राज्य में समुचित इलाज की व्यवस्था पर जोर देना चाहिये न कि अंग्रेजी हुकूमत की तरह कठोर कानून बनाकर जनता को और अधिक परेशान करने पर।
आज गरीबों,मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराना प्राथमिकता में होना चाहिये था जिस ओर सरकार का कोई ध्यान नही है।

SUBSCRIBE FOR UPDATES
@2022 BJP All Rights Reserved
Connect With Us: